अरविंद केजरीवाल ने कहा जिनके पास काला धन है, उनके घर पर...

अरविंद केजरीवाल ने कहा जिनके पास काला धन है, उनके घर पर नए नोटपहुंचाए जा रहे हैं….!!

609
1
SHARE
arvind-kejriwal-zuban-in

New Delhi: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नोटबंदी को लेकर एनडीटीवी से चर्चा करते हुए सरकार को आड़े हाथों लिया. आइये पढ़ते है क्या केजरीवाल ने …. आप नीचे पूरा विडियो देख सकते है

– पहले कांग्रेस ने बचाया अब मोदी जी दोस्तों को बचा रहे हैं.
– 1 लाख 14 हजार करोड़ रुपये राइट ऑफ कर दिए.
– बड़ी मछलियों को कोई परेशानी नहीं हो रही, आम आदमी परेशा हो रहा है
– स्‍वतंत्र भारत का यह सबसे बड़ा घोटाला है
– सारे राजनीतिक दल अपने फंडिंग का हिसाब दें
– सबसे पहले सारी पार्टियां अपना काला धन घोषित करें
– हम पांच-पांच रुपये का हिसाब देते हैं
– शादी वाले घरों में पिता को हार्ट अटैक हो रहा है
– अरुंधति भट्टाचार्य ने कहा कि चेक से पे करें. आप कैश इकोनॉमी को रातोंरात खत्म नहीं कर सकते. अगर कालाधन बंद करना था तो करेंसी चेंज करने की आवश्यकता नहीं.
– भ्रष्टाचार बंद नहीं हुआ.. पैसे लेने वाला भी वही, देने वाला भी.
– मजदूरों की मजदूरी खत्म हो गई है
– लोकसभा चुनाव में 1000 करोड़ खर्च किए थे उसका हिसाब दो
– 80 प्रतिशत से ज्यादा डोनेशन बीजेपी और कांग्रेस को नंबर दो से मिल रहा है. सभी राजनीतिक दल अपने फंडिंग का हिसाब दें.
– सरकार को बैंकों की लाइन में खड़े लोग नजर नहीं आते क्‍या
– नोटबंदी में आठ लाख करोड़ का घोटाला

– दो साल से आयकर विभाग में दस्‍तावेज हैं लेकिन जांच नहीं हुई
– तीन दिन पहले 63 अरबपतियों के 6 हजार करोड़ रुपये माफ कर किए दिए
– बड़े उद्योगपतियों के लोन माफ क्‍यों किए जा रहे हैं
– अरबपतियों के 6000 करोड़ के लोन क्‍यों माफ कर दिए गए, क्‍या रिश्‍तेदारी थी
– सबसे महंगा कैंपेन ओबामा के बाद प्रधानमंत्री मोदी का था. लोकसभा में खर्च किए रुपये का बीजेपी हिसाब दे.
– सभी पार्टियां आरटीआई के दायरे में आएं
– सीबीआई सहित सभी जांच एजेंसियां आपके पैसे हैं, जांच कीजिए
– 55 लोग मर गए तो क्या ये थोड़ी बहुत तकलीफ है. आपको शर्म आती है या नहीं
– ममता बनर्जी सहित सभी की जांच होनी चाहिए
– छोटे लोगों को लाइन में लगा रखा है और बड़े लोग आराम कर रहे हैं
– 2000 का नोट लाकर भ्रष्टाचार कैसे खत्म होगा, मेरी समझ से बाहर
– नोटबंदी की बात करना देश विरोधी है
– अगर ये स्कीम अच्छी होती तो मैं समर्थन में सबसे आगे आता
– ईमानदार कोशिश होती, अच्छी नीयत होती तो हम मोदी जी का साथ देते
– जब-जब मोदी जी ने अच्छा काम किया, हमने साथ दिया
– इससे कमाए प्रॉफिट को सरकार बजट में दिखाएगी
– योग में, सर्जिकल स्ट्राइक में हम मोदी जी के साथ, उन्हें सैल्यूट किया
– ममता बनर्जी से बात करके आगे की रणनीति पर बात करेंगे

data-matched-content-rows-num="2" data-matched-content-columns-num="2" data-matched-content-ui-type="image_stacked">