Srikanth Kidambi Biography in Hindi: बैडमिंटन खिलाडी श्रीकांत किदम्बी का जीवनी

Srikanth Kidambi Biography in Hindi: बैडमिंटन खिलाडी श्रीकांत किदम्बी का जीवनी

417
0
SHARE
Srikanth Kidambi Biography

Srikanth Kidambi Biography in Hindi: श्रीकांत किदम्बी (Srikanth Kidambi) एक भारतीय पुरुष बैडमिंटन खिलाड़ी है। इन्होंने 2014 में चाइना ओपन सुपर सीरीज़ प्रीमियर का खिताब भी जीता था। इन्होंने गोपीचन्द बैडमिंटन एकेडमी हैदराबाद से खेल का प्रशिक्षण लिया था।

श्रीकांत किदम्बी का जीवन परिचय और पृष्ठभूमि Srikanth Kidambi Biography in Hindi

Srikanth Kidambi श्रीकांत का पूरा नाम श्रींकात नम्‍मालवर किदम्‍बी है। उनका जन्‍म 7 फरवरी 1993 को आंध्र प्रदेश के गुंटूर में हुआ। श्रीकांत के पिता केवीएस कृष्‍णा पेसे से जमींदार हैं और मां राधा गृहणी है। श्रीकांत के भाई नंदा गोपाल भी एक बैडमिंटन खिलाड़ी ही हैं।

Also Read: Mathematician Anand Kumar Biography in Hindi

Srikanth Kidambi Badminton Biography & Career: श्रीकांत किदम्‍बी का बैडमिंटन करियर

श्रीकांत किदम्‍बी का बैडमिंटन (Srikanth Kidambi badminton) में आगमन बड़ा कठिन रहा। श्रीकांत किदम्‍बी (Srikanth Kidambi) के भाई गोपीचंद की अकादमी में ट्रेनिंग ले रहे थे। उस समय Srikanth Kidambi कुछ काम नहीं करते थे इसलिए उनके माता-पिता परेशान रहते थे। श्रीकांत के पिता ने गोपीचंद से बात की और अपने बेटे को Badminton की ट्रेनिंग देने की गुहार लगाई।

गोपीचंद की अकादमी ने श्रीकांत को बनाया हीरा

इसके बाद के. श्रीकांत ने हैदराबाद में रहकर गोपीचंद की अकादमी में बैडमिंटन का अभ्‍यास करना शुरू किया। श्रीकांत को बेंगलुरु की गो स्‍पोर्ट्स फाउंडेशन का समर्थन भी प्राप्‍त है। उल्‍लेखनीय है कि ओलिंपिक स्‍वर्ण पदकधारी निशानेबाज अभिनव बिंद्रा भी गो स्‍पोर्ट्स फाउंडेशन से जुड़े हुए हैं।

Also Read: Kumar Vishwas Biography Hindi

श्रीकांत (Srikanth Kidambi) के कोच गोपीचंद हमेशा ही उनकी तारीफ करते रहे हैं। Srikanth Kidambi ने भी अपने कोच के भरोसे को कायम रखते हुए पुणे में आयोजित ऑल इंडिया जूनियर इंटरनेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप में एकल और युगल स्‍पर्धा जीत लिया। इसके अलावा 2011 राष्‍ट्रमंडल खेलों में Srikanth Kidambi ने मिश्रित युगल स्‍पर्धा में रजत पदक जीता तथा युगल स्‍पर्धा में कांस्‍य पदक जीतकर चयनकर्ताओं को प्रभावित कर लिया था।

2012 में श्रीकांत ने जूनियर विश्‍व चैंपियन मलेशिया के जुलफादी जुलकिफ्फि को मात देकर अपने नाम का डंका बजाया। गोपीचंद की निगरानी में श्रीकांत ने लगातार अच्‍छा अभ्‍यास जारी रखा। इसका नतीजा 2013 की थाईलैंड ओपन ग्रांपि में दिखने को मिला, जब उन्‍होंने विश्‍व रैंकिंग में आठवें स्‍थान पर काबिज बूनसेकक पोंसाना को मात दी। इसके बाद श्रीकांत ने इंचियोन राष्‍ट्रमंडल खेलों के स्‍वर्ण पदक विजेता पारुपल्‍ली कश्‍यप को मात देकर पहली बार सीनियर राष्‍ट्रीय स्‍पर्धा जीती।

Also Read: Ram Nath Kovind Biography Hindi

2013 में हुई इंडियन बैडमिंटन लीग (IBL) में विश्‍व के नंबर एक खिलाड़ी ली चोंग वी के कोच ताई जे बोक ने श्रीकांत की तारीफों के पुल बांधे थे। उन्‍होंने कहा था कि श्रीकांत किदम्बी (Srikanth Kidambi) के कोर्ट पर मूवमेंट्स ली चोंग वी के समान ही हैं।

श्रीकांत किदम्बी (Srikanth Kidambi) ने एकल स्‍पर्धा में अब तक 135 मैच खेले हैं जिसमें से उन्‍होंने 92 मैच जीते तथा 43 में उन्‍हें पराजय का सामना करना पड़ा है। बैडमिंटन समीक्षकों के लिहाज से उनका अब तक का करियर बहुत शानदार रहा है।

अगर आपको Srikanth Kidambi Biography in Hindi अच्छा लगा तो आप जरुर Facebook, Twitter पर लाइक एंड शेयर करे और  Hindi News के बारे में पढ़ते रहिये.

data-matched-content-rows-num="2" data-matched-content-columns-num="2" data-matched-content-ui-type="image_stacked">