* “राजा और प्रजा”*

* “राजा और प्रजा”*

117
0
SHARE
Lekh- zubaan

मेरे देश का भविष्य
…….बहुत अच्छी बात है
मेरे देश का भविष्य अब योगियों के हाथ मे है ।
एक तरफ ,देश के प्रधानमन्त्री माननीय मोदी जी ,और दूसरी और देश के सबसे बड़े राज्य के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ जी ।
और एक और सवा सौ करोड़ देशवासी उनके परिवार
और उनके मुखियाओं को अपने -अपने परिवारों को पालने की जिम्मेवारी ,परिवारों को पालना कोई साधारण काम नहीं बढ़ी ही जिम्मेवारियों का काम है ये ।
जहाँ एक परिवार को पालने के लिए संस्कारों की भावनाओं की अहम भूमिका होती है ,वहीं धन, संपत्ति,बचत की भी अहम भूमिका होती है ।

“यह बातें वही जान सकता है जो परिवार से जुड़ा हो ।”

“मैं किसी का विरोध नहीं कर रही ,परन्तु एक सन्यासी यानि एक वैरागी ,जब इन्सान वैराग्य में चला जाता है तो उसका मोह ममता से नाता छूट जाता है।”

Also Read:  जाति और धर्म के आधार पर किसी के साथ अन्याय नहीं होना चाहिए: PM मोदी

इस में भी कोई दो राय नहीं की एक योगी अद्वितय ज्ञान का ज्ञाता होता है ,एक योगी जितना ज्ञान साधारण शिक्षित इन्सान में भी नहीं होता ।
परन्तु हम सांसारिक लोग घर गृहस्थी वाले हैं और मैं सोचती हूँ ,देश का नेता समस्त देशवासियों का माता और पिता होता है ।
मैं तो यही कहना चाहूँगी ,की देश के मन्त्री बेशक़ वैरागी ,योगी ,और सन्यासी हो पर देश की जनता सन्यासी नहीं ,वह तो भोगी है ,उसे मन्दिर ,मस्जिद, से पहले और कब्रिस्तान तो बाद की बात है ,पहले उसे रोजी -रोटी चाहिये ।तरक्की सुख समृद्धि औऱ खुशहाली चाहिये ……☺☺☺☺????

data-matched-content-rows-num="2" data-matched-content-columns-num="2" data-matched-content-ui-type="image_stacked">