Pregnancy Tips in Hindi Month by Month, गर्भावस्था के 9 महीने

Pregnancy Tips in Hindi Month by Month, गर्भावस्था के 9 महीने

248
0
SHARE
Pregnancy Tips in Hindi Month by Month

Pregnancy in Hindi Month by Month, Pregnancy Tips in Hindi Month by Month: हर औरत का सपना होता है की शादी के बाद सही समय पर माँ बने, माँ बनने के बाद स्त्री को वो सारा सुख मिल जाता है जो उसे जिंदगी में चाहिए। अगर हम पति और पत्नी के आपसी रिश्ते क बारे में बात करे तो बच्चा के जन्म लेते ही रिश्ता और ज्यादा गहरा हो जाता है, जो की बच्चे के परवरिस के लिए बहुत जरुरी होता है।

वो कहते है ना माँ की जिम्मेदारी निभानी सबसे मुस्किल काम होता है, माँ कितनी भी समस्या में क्यों न हो फिर भी वो अपने बच्चो का ख्याल रखती है क्या होती है।

माँ बनना इतना आसान भी आसान भी नही है उसके लिए औरत को Pregnancy के दौरान 9 महीने तक अपने गर्भ में बच्चे को रखती है बल्कि अच्छे से देखभाल करनी पड़ती है।

Also Read: गर्भधारण करने का तरीका How to get pregnant in Hindi ?

Pregnancy में लड़की को अपना देखभाल खुद ही रखना पड़ता है नहीं तो इसका असर माँ और बच्चे दोनों पर पड़ता है। ध्यान नही रखने से बच्चे के सेहद पर असर पड़ता है।

आइये जानते है की बच्चो के अंग में प्रतेक महीने कैसे बदलाव आता Pregnancy tips in hindi month by month

Pregnancy Month by Month in Hindi

Pregnancy Tips in Hindi Month by Month
Pregnancy Tips in Hindi Month by Month

प्रेगनेंसी के दौरान first month से लेकर 9 months तक कैसे बच्चो का खयाल रखते है और गर्भावस्था में बच्चे का विकास कैसे होता है। pregnancy me baby ki growth kaise hota hai .

Pregnancy Tips in Hindi Month by Month

गर्भावस्था का पहला महीना 1st (First) Month Pregnancy in Hindi

स्त्री के लिए प्रेगनेंसी का पहिला महिना (First month ) बहुत ख़ास होता है। अगर आपको पता हो गया है की आप प्रेग्नेंट हो आपको कुछ ख्याल रखना पड़ता है: –

क्या करना चाहिए :-

  • सबसे पहले तो आपको अपने सेहद का ख्याल रखना पड़ेगा फिर आप अपने खाने पिने पर विषेश ध्यान रखे। जैसे की आपको खाने पिने में कैल्शियम, प्रोटीन और आयरन युक्त चीजों का इस्तमाल करना चाहिए.
  • खाने में पालक की सब्जी और सीजनल फल का इस्तमाल करे पालक की सब्जी में आयरन की मात्रा ज्यादा होती है।

क्या नहीं करना चाहिए :-

  • किसी भी तरीके के भारी सामान वजन को उठाने से बचे।
  • पानी पिने के वक़्त उलटी आने से आपको घबराने की जरुरत नहीं है . इसको मितली आना भी बोलते है .
  • पपीता गलती से भी नहीं खाना है इसके खाने से गर्भपात हो सकता है .

गर्भावस्था का दूसरा महीना  2th (Second) Month Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी का दूसरा महिना (Second month) बहुत ही महत्व पूर्ण होता है इस में month  में बच्चे का ह्रदय का विकास होता है। गर्भावस्ता का दूसरा महिना (Second month of pregnancy) बच्चे के अंगो का विकास करता है और बच्चे के चेहरे का आकर बनता है।

क्या करना चाहिए :-

  • बच्चे के अंगो का विकास होने के लिए कैल्शियम और प्रोटीन युक्त चीजे खाने की जरुरत है .
  • दुसरे महीने में स्त्री जिस व्यक्ति के बारे मे ज्यादा सोचती है उसी प्रकार से बच्चे का चेहरा बनता है. इसलिए उस समय भगवान् के बारे में सोचना चाहिए ।
  • अच्छे किताबे पढना शुरू करे और अच्छा भोजन करे.

क्या नहीं करना चाहिए: –

  • कैफीन युक्त पदार्थो का सेवन नहीं करना है .
  • किसी के बारे मे बुरा नहीं सोचना चाहिए.



गर्भावस्था का तीसरा महीना  3th (Third) Month Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी का तीसरा महिना में धीरे धीरे बच्चे की हड्डियों का विकास होने लगता है। बच्चे के कान और बाहरी अंगो का विकास भी तीसरे महीने में शुरू हो जाता है, गर्भावस्ता के तीसरा महीना (Third month of pregnancy)  में गर्भ का सर का आकार बढ़ने लगता है और बच्चा का लम्बाई तीन इंच तक हो  जाता है। बच्चे की आंख ,हाथ, पैर और उंगलिया इसी महीने में बनती है ।

क्या नही करना चाहिए :-

  • इस महीने में सबसे ज्यादा तनाव बढ़ता है तो आपको तनाव को नजर अंदाज करके स्वस्थ और खुशहाल रहने की कोशीश करे।
  • इस दौरान आपको ज्यादा काम नही करना चाहिए।

गर्भावस्था का चौथा महीना  4th (Fourth) Month Pregnancy in Hindi

Pregnancy के चौथा महिना में बच्चे का हारमोंस आने लगते है और बच्चे से Amniotic Liquid भी निकलने लगता है। बच्चे के सर के बाल आने की शुरुवात हो जाती है और साथ ही साथ बच्चे का वजन और लम्बाई चौथे महीने में बढ़ने लगता है। आप अगर गौर किये होंगे गर्भवती महिला का पेट का साइज़ इसके साथ धीरे बढ़ने लगता है।

क्या नहीं करना चाहिए :-

  • गर्भवती महिला (Pragnancy Women) को कोशिश करना चाहिए की ढीला ढला और सहती कपडा पहनना चाहिए । चुस्त कपडे पहनने से बच्चे के मांसपेशिया को पैदा होने में परेशानी होने लगती है  .इसीलिए ज्यादा चुस्त कपडे नहीं पहने
  • शराब और कॉफ़ी जैसे चीजों का सेवन Pregnancy में नहीं करनी चाहिए ।

गर्भावस्था का पांचवा महीना  5th (Fiftth) Month Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी का पांचवा महीना (Fifth month of pregnancy) में बच्चे की पैर की और हाथ की उंगलिया का आकर बढ़ता है और उनका विकास होता है।

पांचवे महीने में गर्भ की हाथ पैर हिलाने लगता है जिससे की गर्भवती महिला को पता चलने लगता है और कभी कभी गर्भ एकदम शांत बैठता है।

क्या नहीं करना चाहिए:-

  • जितना हो सके बहार के खानों को इगनोरे करे .
  • जंक फ़ूड खाना बंद करे.

गर्भावस्था का छठा महीना  6th (Sixth) Month Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी का छठा महीना (Sixth month of pregnancy) में बच्चे की आँखों का विकास हो जाता है और बच्चा आंखे की पलकों को खोलता है और बंद करता है । बच्चा लात मार सकता है और रो सकता है।

कुछ बच्चो का जन्म 6 महीने (Six months) में ही हो जाता है और 6 महीने में बच्चे के पैदा होने के लिए ख़ास ध्यान रखना पड़ता है।

क्या नहीं करना है प्रेगनेंसी में:-

  • खुद की मर्जी से किसी भी तरीके का व्यायाम या योग नहीं करना है .
  • अगर आपको योगा करना है तो सबसे पहले डॉक्टर की योग एक्सपर्ट की सलाह से ही करे.

गर्भावस्था का सातवाँ महीना  7th (Seventh) Month Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी का सातवाँ महीना (Seventh month of pregnancy) में बच्चे को अंगूठा चूसने की और लात मरने की आदत लग जाती है। गर्भवती महिला (Pregnant women) के पेट पर कान लगा कर सुनने पर बच्चे की धड़कन भी सुनाई देती है।

प्रेग्नेंट होने के बाद क्या नहीं करना चाहिए

  • आपको किसी भी प्रकार के खेल नहीं खेलने है.
  • ज्यादा देर तक खड़ा होने से आपके पेट पर जोड़ पड़ता है इसलिए ज्यादा देर तक खड़ा नहीं रहना है।



गर्भावस्था का आठवां महीना  8 (Eighth) Month Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी का आठवां महीना (Eighth month of pregnancy) में बच्चे की हालचाल माँ को आसानी से पता चलने लगता है।

आंठ्वे महीने में बच्चा नींद ले सकता है इस महीने में बच्चे को जागने और सोने की आदत लग जाती है . आंठ्वे महीने महीने में बच्चे का वजन २ से 3 किलो तक होता है . बच्चा अपनी आंखे पूरी तरहखोल पाता है।

क्या करना चाहिए:-

  • इस वक़्त अपने पेट की सुनना चाहिए और जब आपको भूख लगे तब खा लेना चाहिए.

गर्भावस्था का नववा महीना 9th (Nine) Month Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी का नवाँ महीना (Nine month of pregnancy)  ये आखिरी महिना होता है इस month में स्त्री को सबसे ज्यादा दर्द होता है  लेकिन इस दर्द के बाद जो खुसी में मिलती है उसका कोई ठिकाना नही होता नवाँ महिने में बच्चे का सर निचे की तरफ और पैर ऊपर की तरफ हो जाते है। नवाँ महीने में बच्चा शांत रहता है। गर्भवती महिला (Pregnant women) के स्तनों से दूध आने लगना शुरू हो जाता है बच्चे को माँ का दूध तीन महीने तक पिलाना चाहिए जिससे की बच्चा सेहद ठीक रहे।

ये लेख Pregnancy in Hindi Month by Month पढ़ कर कैसा लगा अगर अच्छा लगा हो या कोई कमी रह गई है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिख सकते है। बाकि खबरों के लिए पढ़ते रहिये Zuban और इसे Facebook और Twitter पर शेयर करना ना भूले धन्यवाद।

ये भी खबर पढ़े

loading...