नोटबंदी से कश्मीर घाटी में आतंकियों को बड़ा झटका

नोटबंदी से कश्मीर घाटी में आतंकियों को बड़ा झटका

174
0
SHARE
Notbandi in kashmir - Zuban

New Delh:. नोटबंदी के फैसले के बाद हवाला कारोबार में 80% तक गिरावट आ गई है। इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के मुताबिक 3 दिनों के भीतर खाड़ी देशों और कश्मीर घाटी के बीच एक भी हवाला ट्रांजैक्शन सामने नहीं आया है। रिपोर्ट बताती है कि ब्लैक मनी बाहर लाने के लिए नोटबंदी का फैसला असर दिख रहा है ।

आइये जानते इससे जुड़ी कुछ अहम जानकारियां

IB ने अपनी रिपोर्ट में कहा, नोटबंदी के बाद ऑपरेटर्स के अंडरग्राउंड होेने के चलते मनी लॉन्ड्रिंग थम-सी गई है।

8 नवंबर को लिए गए नोटबंदी के फैसले चलते अहमदाबाद , दिल्ली, जयपुर, और मुंबई में हवाला ऑपरेटर्स अंडरग्राउंड हो गए हैं।

IB ने अपनी रिपोर्ट होम मिनिस्ट्री को सौंपी है। मिनिस्ट्री ने IB और नेशनल इन्वेस्टिगेटिव एजेंसी (NIA) को नोट बंदी के असर की मॉनिटरिंग का जिम्मा सौंपा गया है।

आतंकवादी बुरहान वानी के एनकाउंटर के बाद हो रहे प्रदर्शनों के चलते NIA और IB कश्मीर घाटी में हवाला फंडिंग की डिटेल इन्वेस्टिगेशन कर रही है।

हवाला कारोबार में किसी तरह के बिल या पेपर्स का यूज नहीं होता है। ये कारोबार केवल ‘जुबान’ पर चलता है, जिसकी फीस ली जाती है।

हवाला के जरिए टेररिज्म, ड्रग कारोबार को फंडिंग की जाती है।

बैंकिंग सिस्टम का इस्तेमाल किए बगैर एक जगह पर डिलिवर किया गया कैश दूसरी किसी भी जगह पर उपलब्ध करा दिया जाता है।

data-matched-content-rows-num="2" data-matched-content-columns-num="2" data-matched-content-ui-type="image_stacked">