Mother’s Day Special 2017 – मां से बढ़कर कुछ नहीं है दुनिया...

Mother’s Day Special 2017 – मां से बढ़कर कुछ नहीं है दुनिया में

105
0
SHARE
Mother’s Day Special
Image Source

Mother’s Day Special 2017 in Hindi प्रतेक साल हम ‘मदर्स डे’ (Mother’s Day) मनाते चले आ रहे है. माँ को हम अपनी प्यार जताने क लिए कई तरह से बुलाते है कोई माई, मम्मी, माताजी, आई या मामॅ कहा जाता है. सभी नामो मे छिपा प्यार एक ही है. माँ के आचँल मे है ममता ही ममता है. हमारी कोई परेशानी उनसे छिपी नही रह्ती. ना जाने वो बिना बताए अपने आप कैसे जान जाती हैं. माँ का नाम लेते ही आंखों मे अलग सी चमक आ जाती है.

मदर्स डे’ (Mother’s Day Special) पर ये बात बताना जरुरी है की अगर सच कहा जाये तो भगवान का दूसरा नाम ही है माँ. हर जगह तो भगवान का जाना सम्भव नहीं हैं इसलिए उसने माँ को बना दिया. बेशक समय कितना ही बदल जाए पर हमारे देश के संस्कार ही ऐसे है कि माँ का प्यार ना कभी बदला है ना कभी बदलेगा.

Best Quotes and Shayari for Mother’s Day in Hindi

हमारे कुछ गुनाहों की सज़ा भी साथ चलती है
हम अब तन्हा नहीं चलते दवा भी साथ चलती है
अभी ज़िन्दा है माँ मेरी मुझे कुछ भी नहीं होगा
मैं जब घर से निकलता हूँ दुआ भी साथ चलती है
Happy Mother’s Day ?

माँ ना होती तो वफ़ा कौन करेगा,
ममता का हक़ भी कौन अदा करेगा,
रब हर एक माँ को सलामत रखना,
वरना हमारे लिए दुआ कौन करेगा.

ये जो सख्त रस्तो पे भी आसान सफ़र लगता हे
ये मुझ को माँ की दुआओ का असर लगता हे
एक मुद्दत हुई मेरी मां नही सोई तबिश …
मेने एक बार कहा था के मुझे डर लगता हे..!!!

Shayari for Mother’s Day in Hindi

माँ से रिश्ता कुछ ऐसा बनाया
जिसको निगाहों में बिठाया जाए
रहे उसका मेरा रिश्ता कुछ ऐसा की
वो अगर उदास हो तो हमसे भी मुस्कुराया न जाये

जिँदगी की पहली ‪Teacher ‎माँ,
जिँदगी की पहली ‪Friend माँ,
Jindagi भी माँ ‎क्योँकि,
Zindagi देने वाली भी माँ.

बच्चों को खिलाकर जब सुलादेती है माँ,
तब जाकर थोडा सा सुकोन पाती है माँ,
प्यार कहते हैं किसे ? और ममता क्या चीज़ है ?,
कोई उन बच्चों से पूछे जिनकी गुज़र जाती है माँ,
चाहे हम खुशियों में माँ को भूल जाएँ ,
जब मुसीबत सर पर आती है तो याद आती है माँ.

Mother’s Day Special in Hindi

हमारी माँ हमारे लिये सुरक्षा कवच की तरह होती है क्योंकि वो हमें सभी परेशानियों से बचाती है। वो कभी अपनी परेशानियों का ध्यान नहीं देती और हर समय बस हमें ही सुनती है। माँ को सम्मान देने के लिये हर वर्ष मई महीने के दूसरे रविवार को मातृ-दिवस (Mother’s Day) के रुप में मनाया जाता है। ये कार्यक्रम पूरी दुनिया में मनाया जाता है, यह हमारे और हमारी माँ के लिये बहुत महत्वपूर्णं दिन है। इस दिन पर हमें अपनी माँ को खुश रखना चाहिये और उन्हें दुखी नहीं करना चाहिये। हमें उनकी हर होता वैसे मेरे अनुसार माँ के लिए कोई एक दिन को खास नही होता माँ के लिए तो हर दिन खास होता है.

Also Read: Why Mussoorie Is Called Queen of Hills – पहाड़ों की रानी मसूरी

मातृ-दिवस (Mother’s Day) : जब वो बडे़ हो जाएंगे, वही बात फिर से दोहराई जाएगी. सच पूछो तो ऐसी ममतामयी माँ से बार-बार लिपटने का मन करता है. मन करता है कि फिर से बच्चे बन जाए और माँ के आंचल से सारी दुनिया देखें जैसे बचपन मे देखते थे.