आधार कार्ड में दर्ज जन्म तिथि को सरकार ने मान्यता देने का...

आधार कार्ड में दर्ज जन्म तिथि को सरकार ने मान्यता देने का फैसला किया

146
0
SHARE
indian-passport-zuban

नई दिल्ली: बनवाने की प्रक्रिया को सरकार ने और आसान कर दिया साध, सन्यासी को तौफा दिया है, अब सन्यासी अपने माता-पिता के नाम की जगह अपने गुरुजनोका नाम भी पासपोर्ट में दर्ज करा सकेंगे। आज पासपोर्ट नियमों में कुछ ख़ास बदलाव किए गए हैं। इसके साथ ही अब अपने जन्मतिथि के सबूत के तौर पर जन्म प्रमाण पत्र भी दिखाना अनिवार्य नहीं होगा।

Also Read: Aadhaar Card को PAN Card से Link कैसे करें

भारत सरकार के विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने नए नियमों की घोषणा के साथ ही पासपोर्ट बनवाने की प्रक्रिया को बहुत आसान बना दिया जिसका सीधा फायदा उन करोड़ो देशवाशियो को हो सकता है जो पासपोर्ट बनवाना चाहते हैं।

सरकार ने कहा है की पासपोर्ट में आवेदन के दौरान जन्मतिथि के सबूत के जगह जिसमें जन्मतिथि लिखी हो जैसे आप ट्रांसफर/ स्कूल लीविंग/ मैट्रीकुलेशन सर्टिफिकेट, पैन कार्ड, आधार कार्ड/ ई-आधारकार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, इलेक्शन फोटो आइडेंटिटी कार्ड और एलआईसी पॉलिसी बॉन्ड में से किसी भी एक को प्रूफ के तौर पर पेश कर सकता है।

सभी आवेदकों या 26 जनवरी, 1989 के बाद पैदा हुए नागरिको के लिए एक पासपोर्ट प्राप्त करने के लिए जन्म प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य था। सरकार के इस फैसले से पासपोर्ट बनवाना बेहद आसान और इसमें और भी तेजी आएगी

data-matched-content-rows-num="2" data-matched-content-columns-num="2" data-matched-content-ui-type="image_stacked">